Pages

13 जुलाई 2012

....पढ़ाई के दिन

हमने कितने ही लोगो को कहते सुना है कि स्टडी लाइफ़ कि याद आ रही है बात सही भी है क्यों ना आये याद क्योंकि सुनहरे पल होते है स्टडी लाइफ में जो बाद में कभी भी दुबारा नहीं आते | वो दोस्तों के साथ क्लास करना और क्लासेज बंक करना कितना मजा आता था और दोस्तों के बिना हमें यह भी सीखने को मिला कि बगैर दोस्तों के लाइफ कितनी बेरंग हो जाती है | हर बात में दोस्तों का मौज लेना और समय पड़ने पर जी-जान से सहयोग करना शायद बाद में बहुत कम देखने को मिलता है |


किसी बात कि कोई चिंता नहीं बस कुछ हद तक पढाई और पूरी मौज मस्ती | सुबह देर तक सोना और कालेज में देर से आना | शायद इन सब चीजों को याद करके बहुत सुकून मिलता है और दोस्तों कि याद में आँखे नम हो जाती है | हालांकि इस दौर में हम दोस्तों से विभिन्न सोशल नेटवर्क्स द्वारा जुड़े हुए है फिर भी मिलने के अवसर बहुत कम हो पाते है |

1 टिप्पणी:

  1. सच्ची..............
    कोई लौटा दे मेरे बीते हुए दिन....

    अनु

    उत्तर देंहटाएं

Thanks for Comment !

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...