Pages

2 अप्रैल 2012

भाग्य बदलते देर नहीं लगती !

एक मछुआरा था । उस दिन सुबह से शाम तक नदी में जाल डालकर मछलियाँ पकड़ने की कोशिश करता रहा , लेकिन एक भी मछली जाल में न फँसी ।

जैसे -जैसे सूरज डूबने लगा , उसकी निराशा गहरी होती गयी । भगवान का नाम लेकर उसने एक बार और जाल डाला । पर इस बार भी वह असफल रहा . पर एक वजनी पोटली उसके जाल में अटकी । मछुआरे ने पोटली निकला और टटोला तो झुंझला गया और बोला -' हाय ये तो पत्थर है !' फिर मन मारकर वह नाव में चढा ।

बहुत निराशा के साथ कुछ सोचते हुए वह अपने नाव को आगे बढ़ता जा रहा था और मन में आगे के योजनाओं के बारे में सोचता चला जा रहा था । सोच रहा था 'कल दुसरे किनारे पर जाल डालूँगा । सबसे छिपकर ...उधर कोई नही जाता ....वहां बहुत सारी मछलियाँ पकड़ी जा सकती है ... '

मन चंचल था तो फिर हाथ कैसे स्थिर रहता ? वह एक हाथ से उस पोटली के पत्थर को एक -एक करके नदी में फेंकता जा रहा था । पोटली खाली हो गयी । जब एक पत्थर बचा था तो अनायास ही उसकी नजर उसपर गयी तो वह स्तब्ध रह गया । उसे अपने आँखों पर यकीन नही हो रहा था , यह क्या ! ये तोनीलमथा |

मछुआरे के पास अब पछताने के अलावा कुछ नही बचा था | नदी के बीचोबीच अपनी नाव में बैठा वह सिर्फ अब अपने को कोस रहा था ।

प्रकृति और प्रारब्ध ऐसे ही न जाने कितने नीलम हमारी झोली में डालता रहता है जिन्हें पत्थर समझ हम ठुकरा देते हैं।



13 टिप्‍पणियां:

  1. वाह!!!!!!!!!!!!

    बहुत बढ़िया...........

    निराशा भी अकसर दुर्भाग्य लाती है....

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत अच्छी कथा .... उसके भाग्य में नहीं थे कीमती पत्थर

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत बढ़िया कहानी ,जो भाग्य में लिखा होता है वही होता है...

    MY RECENT POST...काव्यान्जलि ...: मै तेरा घर बसाने आई हूँ...

    उत्तर देंहटाएं
  4. सच कहा ... जो मिले उसका स्वागत करना चाहिए ... पर ये भी सही है की भाग्य में नहीं हो तो कुछ नहीं मिलता ...

    उत्तर देंहटाएं
  5. सही कहा ...भाग्य बदलते देर नहीं लगती ....

    बहुत अच्छी लघु कथा ....

    उत्तर देंहटाएं
  6. बहुत सही कहा आपने इस प्रस्‍तुति के माध्‍यम से ... आभार ।

    उत्तर देंहटाएं
  7. सुंदर सन्देश देती कथा. किस्मत कभी भी बदल सकती है.

    उत्तर देंहटाएं
  8. भाग्य बदलते देर नहीं लगती सुंदर सन्देश देती कथा

    उत्तर देंहटाएं

Thanks for Comment !

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...